जिंदगी में खुश कैसे रहे .................................|

जिंदगी हमे बहुत कुछ सिखाती है, कभी हसती तो कभी रुलाती है। पर हर हल में जो खुश  रहते है, जिंदगी उन्ही के सामने सर झुकाती है। 

एक बार की बात है कॉलेज में मनीष नाम का लड़का पढता था।  वो इतना खुश रहता था की पूरी क्लास उसकी वजह से खुश रहती थी।  हमेसा हशी मजाक करता था लेकिन मालुम नहीं क्या हुआ की पिछले 15-20 दिनों से वो उदाश रहने लगा था।  ना वो किसी से बात करता था।  धीरे -धीरे उसके दोस्त काम होने लगे।  उसके क्लास में जो टीचर आते थे उन्होंने ये बात नोटिस की और उन्हें लगा की एक बार मनीष से बात करना चाहिए।  उन्होंने मनीष को स्टाफ रूम में बुलाया और पूछा।" मनीष ऐसा क्या हो गया , जिसकी वजहा  से तुम बड़े उदाश रहने लगे हो ,तम्हारी वजह से तो क्लास में सुब लोग कुश रहते थे ,अब तम उदाश रहते हो।" मनीष ने बताया की,"उसे एक लड़की पसंद आये थी और वो लड़की उसका दिल तोड़ के चली गयी, उसका ब्रेकअप हो गया है। " अब मनीष को लगता है की जिंदगी में कुश अच्छा है ही नहीं।  वो उसी बात को याद करके उदाश रहता है , भूल नहीं पाता है।  तो टीचर को लगा की मनीष को ये बात समझनी पड़ेगी की जिंदगी में खुश  कैसे रहना है।उन्होंने मनीष से कहा की आज सामको तुम मेरे घर आना मुझे तुमसे कुछ बात करनी है।

 कॉलेज ख़त्म हुआ साम में मनीष अपने टीचर के घर पंहुचा।  तो टीचर ने कहा तम लेमन जूस लेना पसंद करोगगे , मनीष ने कहा जरूर सर।  टीचर जब लेमन जूस बना रहे थे तब उन्होंने गलती से जानबूझ कर उस लेमन जूस में नमक ज्यादा दाल दिया और चीनी थोड़ी काम थी।  लेमन जूस लेकर के आये और मनीष को जैसे ही पीने को दिया।  मनीष ने पीते ही अजीब सा मुँह बनाया और बोला सर ये क्या बना दिया आपने।  टीचर ने कहा ,"तम कहो तो मै इस लेमन जूस को फेक देता हु और दुसरा बना देता हु। " मनीष ने कहा ,"इसे फेकने की क्या जरुरत है ,इसमें नमक ज्यादा होगया है हम इसमें चीनी ज्यादा दाल देते है।  तो ये पीने लायक हो जाएगा। " टीचर ने कहा,"यही बात तो मई तुम्हे समझाना चाहता हू  की तम्हारी जिंदगी में भी नमक ज्यादा हो गया है , अब उसे तो काम किया नहीं जा सकता लेकिन चीनी की मात्रा बधाई जा सकती है। "

हर किसी की जिंदगी में ऐसे लम्हे आते है। जिसे कभी नहीं भूल सकते है , ऐसे लम्हे जो अच्छे होते ही नहीं है।  जो हमारी यादो को कड़वा बना देते है।  लेकिन हम उसे भूल सकते है तब ,जब हमारी जिंदगी में अच्छे लम्हे आजाएगे।  कोसिस कीजिये की अच्छे लम्हो को जोडे।  पुराने लम्हे ,बुरे लम्हे ,जिनकी वजह से आपको दर्द होता है ,उनहे बार - बार याद करेगे तो कुछ अच्छा नहीं होगा।  

मुस्कुराते चलिए। 

 

 कर दिखाओ कुछ ऐसा की दुनिया करना कहे आपके जैसा।

No comments:

Post a Comment